पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूड़ी को स्वास्थ्य खराब होने की वजह से एम्स ऋषिकेश में आवश्यक परीक्षण और जांच के लिए लाया गया ~

पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूड़ी को स्वास्थ्य खराब होने की वजह से एम्स ऋषिकेश में आवश्यक परीक्षण और जांच के लिए लाया गया

पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूड़ी को स्वास्थ्य खराब होने की वजह से एम्स ऋषिकेश में आवश्यक परीक्षण और जांच के लिए लाया गया

ऋषिकेश: पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल (सेवानिवृत) भुवन चंद्र खंडूड़ी को स्वास्थ्य खराब होने की वजह से एम्स ऋषिकेश में आवश्यक परीक्षण और जांच के लिए लाया गया है। इससे पहले कल उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था। उसके बाद उन्हें एमएच देहरादून ले जाया गया था। लेकिन बाद में उन्हें घर ले आए थे।

उसके बाद आज सुबह फिर उनकी तबीयत खराब होने की वजह से उन्हें एम्स ऋषिकेश लाया गया है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि गुरुवार की सुबह उन्हें स्वजन एम्स लेकर आए हैं। उनके आवश्यक परीक्षण और जांच की जा रही है।

बीसी खंडूड़ी का प्रोफाइल

  • नाम : मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) भुवन चंद्र खंडूड़ी
  • जन्‍म : एक अक्‍टूबर 1934
  • शिक्षा : पीजी डिप्‍लोमा इन इंजीनियरिंग, मिलिट्री इंजीनियरिंग कॉलेज से एडमिनिस्ट्रेटिव बिहेवियर एंड लीडरशिप कोर्स।
  • परिवार : पत्नी, एक पुत्र और एक पुत्री (विधानसभा अध्‍यक्ष ऋतु खंडूड़ी)
  • जीवन परिचय :
  • सेना से मेजर जनरल पद से सेवानिवृत्त भुवन चंद्र खंडूड़ी की छवि आज भी ईमानदार राजनेता के रूप में है।
  • सेना में उत्कृष्ट कार्यों की बदौलत विभिन्न सेवा मेडलों से सम्मानित मेजर जनरल खंडूड़ी 1991 में पहली बार गढ़वाल लोकसभा सीट से सांसद चुने गए।
  • वर्ष 2000 से 2003 तक वे केंद्र उन्होंने परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय में बतौर राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कार्य किया।
  • इस दौरान उन्होंने उत्तराखंड में विभिन्न सड़कों को राजमार्गों को शामिल किया। साथ ही कई मार्गों पर अहम पुलों को भी निर्माण करवाया।
  • 2007-09 और 2011-12 में वे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे।

वर्ष 2012 कोटद्वार विधानसभा सीटे हारे

वर्ष 2012 में कोटद्वार विधानसभा सीट से भुवन चंद्र खंडूड़ी को पराजय का मुंह देखना पड़ा था। उन्हें 26 हजार 746 मत मिले थे, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र सिंह नेगी 31 हजार 593 मत लेकर जीते थे।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.