गले में फंसे मोमोज के कारण देश में पहली मौत, दुर्लभ मामले को लेकर एम्स ने चेताया

गले में फंसे मोमोज के कारण देश में पहली मौत, दुर्लभ मामले को लेकर एम्स ने चेताया

नई दिल्ली: मोमोज खाते वक्त लोगों को सतर्कता बरतनी चाहिए। लापरवाही बरतने पर जान भी जा सकती है। नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के फोरेंसिक विशेषज्ञों ने पोस्टमार्टम जांच के बाद देश में ऐसे पहले मामले का खुलासा किया है।

डॉक्टरों के अनुसार, एम्स के नजदीक दक्षिणी दिल्ली स्थित रेस्तरां में बीते दिनों 50 वर्षीय व्यक्ति मोमोज खा रहा था। अचानक से वह जमीन पर गिरा और उसकी मौत हो गई। एम्स में पोस्टमार्टम कंप्यूटेड टोमोग्राफी में उसके गले में मोमोज फंसा मिला। पेट में अल्कोहल भी था। आशंका है, वह मोमोज खाते वक्त नशे में होगा। फोरेंसिक विभागाध्यक्ष डॉ. सुधीर गुप्ता ने बताया, यह मामला काफी दुर्लभ है, इससे सबक लेना चाहिए।

विंड पाइप में चिपका था मोमोज
डॉ. अभिषेक यादव ने बताया, एम्स के पास अत्याधुनिक शवगृह है। पोस्टमार्टम में मृतक के विंड पाइप के बिलकुल शुरू में पकौड़ी जैसा पदार्थ दिखा, वह मोमोज था।

12 लाख में से एक की मौत 
भोजन करते वक्त वायु मार्ग में रुकावट से अप्रत्याशित मौत होने का यह पहला मामला नहीं है। विश्व में 12 लाख में से एक मौत भोजन के दौरान श्वास अवरोध से होती है।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.