Uttarakhand: मुख्य सचिव डॉ. संधु प्रतिनियुक्ति पर केंद्र में जाएंगे, प्रदेश को मिल सकती है पहली महिला मुख्य सचिव राधा रतूड़ी 

Uttarakhand: मुख्य सचिव  डॉ. संधु प्रतिनियुक्ति पर केंद्र में जाएंगे, प्रदेश को मिल सकती है पहली महिला मुख्य सचिव राधा रतूड़ी 

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. सुखबीर सिंह संधु केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्ति पर जाने की तैयारी में हैं। उनके केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से एनओसी जारी हो चुकी है। कार्मिक एवं सतर्कता विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है।

संधु की प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनाती की संभावनाएं जताई जा रही हैं। उनकी प्रतिनियुक्ति पर जाने की तैयारी के बीच राज्य के नए मुख्य सचिव को लेकर भी चर्चाएं शुरू हो गई हैं। वरिष्ठता के आधार पर मुख्यमंत्री की अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी के मुख्य सचिव बनने की सबसे ज्यादा चर्चा है। वह उत्तराखंड की पहली महिला मुख्य सचिव बन सकती हैं। संधु जुलाई 2021 में उत्तराखंड में मुख्य सचिव बने थे।

उन्होंने ओम प्रकाश की जगह ली थी। मुख्य सचिव बनाने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी उन्हें केंद्र से लाए थे। तब संधु एनएचएआई के अध्यक्ष पद पर तैनात थे। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने भी संधु की कार्यशैली की तारीफ की थी। चर्चा है कि एक बार फिर संधु की केंद्र में जरूरत महसूस हो रही है।

उनके अनुरोध पर कार्मिक एवं सतर्कता विभाग ने उन्हें प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए एनओसी जारी कर दी है। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि तैनाती आदेश अभी कदम दूर है। पहला यह कि एनओसी के बाद केंद्र सरकार से तैनाती डॉ. संधु का तैनाती आदेश आना है। दूसरा प्रदेश सरकार इस तैनाती आदेश पर उन्हें रिलीव करने का निर्णय लेगी। संभावना यही है कि सरकार संधु को अब नहीं रोकेगी।

पीएमओ में जा सकते हैं संधु

1988 बैच के आईएएस अधिकारी डॉ. एसएस संधु प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनाती पा सकते हैं। उनके बारे चर्चा में है कि वे प्रधानमंत्री गति शक्ति मिशन के सचिव बन सकते हैं। इसके अलावा उनके रक्षा सचिव या सचिव उच्च शिक्षा के पद पर तैनाती की संभावनाएं जताई जा रही हैं।

..तो इसलिए वापस हुई एसीएस बर्धन की एनओसी

केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की तैयारी कर चुके अपर मुख्य सचिव आनंद बर्धन की एनओसी प्रदेश सरकार ने वापस ले ली थी। इसकी वजह मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु के केंद्रीय प्रतिनियुक्ति की तैयारी मानी जा रही है। राज्य में वरिष्ठ और अनुभवी नौकरशाहों की पहले से ही कमी है। संधु व बर्धन के केंद्र में जाने से यह समस्या और अधिक बढ़ सकती है। इसलिए बर्धन की एनओसी वापस ले ली गई।

प्रदेश को मिल सकती है पहली महिला मुख्य सचिव

प्रदेश की नौकरशाही में मुख्यमंत्री की अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी वरिष्ठता में सबसे ऊपर हैं। वरिष्ठता के आधार पर वह मुख्य सचिव की रेस में सबसे आगे मानी जा रही हैं। चर्चा है कि 1988 बैच की रतूड़ी को मुख्य सचिव बनाया गया तो वह प्रदेश की पहली महिला मुख्य सचिव होंगी। उनका करीब दो साल का कार्यकाल होगा। उनके बाद 1990 बैच की अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार सबसे वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.