श्रीलंका में आर्थिक संकट के बीच देश के कैबिनेट मंत्रियों ने सामूहिक रूप से दिया इस्तीफा

श्रीलंका में आर्थिक संकट के बीच देश के कैबिनेट मंत्रियों ने सामूहिक रूप से दिया इस्तीफा

कोलंबो। श्रीलंका आर्थिक संकट (Sri Lanka Economic Crisis) की मार झेल रहा है। ऐसे में देश को और एक बड़ा झटका लगा है। प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के अलावा श्रीलंका के पूरे कैबिनेट मंत्रियों ने तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है। पूरा देश जहां आर्थिक तंगी से जूझ रहा है वहीं देश की राजनीतिक स्थिति डगमगा गई है। देश के आर्थिक हालात के खिलाफ लोगों का गुस्सा चरम पर है और देश की सियासत तितर-बितर हो रही है। प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के बेटे नमल राजपक्षे ने अपने सभी विभागों से इस्तीफा दे दिया। हालांकि पीएम महिंदा अभी भी अपने पद पर बने हुए हैं।

श्रीलंका में लोगों का आम जीवन एक बड़ा संघर्ष बन गया है। देश बिजली कटौती के अलावा भोजन, ईंधन और अन्य ढेरों आवश्यक चीजों की भारी कमी का बुरी तरह से सामना कर रहा है। ऐसे में जनता का गुस्सा सरकार पर फूट रहा है, जिसके परिणाम स्वरूप प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे को छोड़कर कैबिनेट के अन्य तमाम मंत्रियों ने अपने पद को त्याग दिया है। सरकार के सभी कैबिनेट मंत्रियों ने एक साझा पत्र पर हस्ताक्षर करते हुए सामूहिक इस्तीफा दे दिया है। 

अंग्रेजी अखबार डेली मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, सभी कैबिनेट मंत्रियों ने एक सामान्य पत्र पर हस्ताक्षर कर दिया है।‌ यह पत्र फिलहाल श्रीलंका के प्रधानमंत्री के पास है, जिसे राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे को सौंपा जाएगा। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में नई कैबिनेट का गठन किया जाएगा। वहीं देश के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के बेटे नमल राजपक्षे ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा, ‘मैंने सचिव को सूचित कर दिया है। राष्ट्रपति को तत्काल प्रभाव से सभी विभागों से मेरे इस्तीफे के लिए, उम्मीद है कि यह लोगों और श्रीलंका की सरकार के लिए स्थिरता स्थापित करने के लिए महामहिम और प्रधान मंत्री के निर्णय में सहायता कर सकता है। मैं अपने मतदाताओं, अपनी पार्टी और हंबनथोटा के लोगों के लिए प्रतिबद्ध हूं।’

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.