प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया ~

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया

मुंबई, आकाशा एयरलाइंस को लांच करने वाले दिग्गज शेयर निवेशक और अरबपति व्यवसायी राकेश झुनझुनवाला का रविवार को निधन हो गया। वे 62 साल के थे। मुबंई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी है।

‘राकेश झुनझुनवाला का जाना दुखद है’

पीएम मोदी ने एक फोटो ट्वीट कर कहा, ‘राकेश झुनझुनवाला अदम्य थे। जीवन से भरपूर, मजाकिया और व्यावहारिक। वे अपने पीछे वित्तीय दुनिया में एक अमिट योगदान छोड़ गए हैं। वह भारत की प्रगति के प्रति भी बहुत भावुक थे। उनका जाना दुखद है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। शांति।’

योगी आदित्यनाथ ने व्यक्त किया शोक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राकेश झुनझुनवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा,  ‘प्रख्यात उद्योगपति श्री राकेश झुनझुनवाला जी का निधन अत्यंत दुःखद है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल परिजनों को यह दारुण दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति!’

झुनझुनवाला को कहा जाता था ‘भारत का वारेन बफे’

  • दिग्गज शेयर बाजार निवेशक राकेश झुनझुनवाला को भारत का वारेन बफे कहा जाता था।
  • झुनझुनवाला पिछले कई दिन से बीमार थे। 
  • मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली।
  • झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई 1960 को हुआ था।
  • वे  मुंबई में पले-बढ़े थे।
  • 1985 में सिडेनहम कालेज से स्नातक होने के बाद उन्होंने इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स आफ इंडिया में दाखिला लिया और रेखा झुनझुनवाला से शादी की, जो एक शेयर बाजार निवेशक हैं।
  • झुनझुनवाला रेयर एंटरप्राइजेज नामक एक निजी स्वामित्व वाली स्टाक ट्रेडिंग फर्म चलाते थे।
  • वह भारत की नवीनतम एयरलाइन अकासा एयर के मालिक भी थे, जिसने इस महीने की शुरुआत में भारतीय आसमान में उड़ान भरी थी।

‘मैं विफलता के लिए तैयार हूं’

झुनझुनवाला से बहुत से लोगों ने सवाल किया कि जब विमानन अच्छा नहीं कर रहे थे, तो उन्होंने एक एयरलाइन शुरू करने की योजना क्यों बनाई, जिस पर उन्होंने जवाब दिया, ‘मैं कहता हूं कि मैं विफलता के लिए तैयार हूं।’ वह हमेशा भारत के शेयर बाजार के बारे में उत्साहित थे और उन्होंने जो भी स्टाक खरीदा वह ज्यादातर मल्टीबैगर में बदल गया।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.