महिलाओं की बाईं आंख फड़कने का क्या होता है मतलब? जानिए ~

महिलाओं की बाईं आंख फड़कने का क्या होता है मतलब? जानिए

महिलाओं की बाईं आंख फड़कने का क्या होता है मतलब? जानिए

सामुद्रिक शास्त्र में कई तरह की मान्यताएं प्रचलित हैं। इन्हीं में एक मान्यता है आंख का फड़कना। आज हम महिलाओं की दाहिनी या बाईं आंख के फड़कने का क्या मतलब होता है, इसके बारे में जानेंगे। अक्सर आपने लोगों को ये कहते हुए सुना होगा कि उनकी सुबह से आंख फड़क रही है। कुछ लोग इसे सही संकेत नहीं मानते हैं। कहा जाता है कि बुरा होने की संभावना है। वहीं सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार आंख फड़कने का मतलब हमेशा अशुभ ही नहीं होता है। दाहिनी और बाईं आंख फड़कने का अलग-अलग मतलब होता है। तो चलिए जानते हैं महिलाओं की आंख फड़कने से जुड़े शुभ-अशुभ संकेतों के बारे में…

महिलाओं की बाईं आंख फड़कना 
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, महिलाओं की बाईं आंख फड़कना शुभ माना गया है। यदि किसी महिला की बाईं आंख फड़कती है, तो ये कुछ अच्छा होने की तरफ इशारा करता है। यानी बाईं आंख फड़कने का मतलब है उस महिला को धन लाभ होने वाला है। 

महिलाओं की दाईं आंख का फड़कना
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यदि किसी महिला की दाईं आंख फड़कती है, तो इसे शुभ संकेत नहीं माना जाता है। दाईं आंख फड़कने का मतलब होता है कि घर परिवार में कोई विवाद उत्पन्न हो सकता है या फिर किसी काम में बाधा उत्पन्न हो सकती है। 

दोनों आंखों का फड़कना
यदि किसी महिला की दोनों आंखें एक साथ फड़क रही हैं, तो इसका अर्थ है कि आपकी अपने किसी पुराने मित्र या संबंधी से मुलाकात होने वाली है। दोनों आंखों का एक साथ फड़कना महिला और पुरुष दोनों के लिए ही एक जैसे संकेत देता है।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.