उत्तराखंड: धामी सरकार आज देगी बजट के उपहार, पहले दिन हंगामे के आसार

उत्तराखंड: धामी सरकार आज देगी बजट के उपहार, पहले दिन हंगामे के आसार

देहरादून: उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा का दूसरा सत्र आज से शुरू हो जाएगा। सत्र के पहले ही दिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सरकार विधानसभा के पटल पर वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए बजट प्रस्ताव पेश करेगी। मार्च में सरकार पहली तिमाही के लिए लेखानुदान लेकर आई थी। अब सरकार शेष अवधि के लिए बजट लाएगी। कैबिनेट की बैठक में सरकार ने वित्तीय वर्ष के लिए करीब 63 हजार करोड़ रुपये के बजट प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल सदन में बजट प्रस्ताव रखेंगे। माना जा रहा है कि धामी सरकार बजट में राज्य के विभिन्न वर्गों के लोगों के लिए कई उपहारों की घोषणा कर सकती है। वित्त मंत्री के मुताबिक, बजट में प्रदेश की जनता से लिए गए महत्वपूर्ण सुझावों की झलक दिखाई दे सकती है। भाजपा के चुनाव दृष्टिपत्र में किए गए संकल्पों को भी बजट में उतारने का प्रयास दिखना तय है। 

विधानसभा सत्र की तैयारियां पूरी हो गई हैं। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने तैयारियों की समीक्षा कर उन्हें अंतिम रूप दिया। शाम को उनकी अध्यक्षता में कार्यमंत्रणा समिति की बैठक हुई, जिसमें तीन दिन का एजेंडा तय हुआ। शाम करीब चार बजे सरकार सदन पटल पर बजट पेश करेगी। सर्वदलीय बैठक में स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को शांतिपूर्ण ढंग से संचालित करने में सहयोग की अपील की।

तीन दिन का एजेंडा तय

विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण की अध्यक्षता में हुई कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में तीन दिन का एजेंडा तय हो गया है। 16 जून के बाद फिर कार्यमंत्रणा समिति की बैठक होगी। मंगलवार को सरकार सदन पटल पर बजट पेश करेगी।

पहले ही दिन हंगामे के आसार
विधानसभा सत्र के पहले ही दिन हंगामे के आसार हैं। विपक्ष गैरसैंण में सत्र न कराए जाने के मुद्दे पर सदन में सरकार पर हमला बोल सकता है। उधर, गैरसैंण में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी उपवास करेंगे। सदन के भीतर और बाहर जनभावनाओं के इस मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेरने का प्रयास करेगा। कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक में पार्टी ने अपनी रणनीति को धार दी।

सत्ता पक्ष भी पलटवार को तैयार

सत्तापक्ष भी विपक्ष के वार पर पलटवार करने को तैयार है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में ट्रैजरी बैंच की रणनीति पर विचार हुआ। बैठक में तय हुआ कि मंत्री पलटवार करेंगे और सत्तापक्ष के विधायक उनकी ढाल बनेंगे। संगठन और सरकार की रीति-नीति और लाइन के अनुरूप सभी पार्टी सदस्यों से आचरण करने को कहा गया है।

मंत्रियों की परीक्षा लेंगे 560 से अधिक प्रश्न

बजट सत्र के दौरान विधानसभा सदस्यों के 560 से अधिक प्रश्न सरकार के मंत्रियों के होमवर्क की परीक्षा लेंगे। विधानसभा सचिव मुकेश सिंघल के मुताबिक, 560 प्रश्न पहुंच चुके हैं और इनके आने का सिलसिला जारी है। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश मंत्रिमंडल ने बेशक आधा दर्जन विधेयकों को मंजूरी दी है, लेकिन विधानसभा के पास अभी कोई विधेयक नहीं पहुंचा है।

विधानसभा सत्र की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। मैं उम्मीद कर रही हूं कि सभी सदस्य सदन में राज्य के विकास व जनहित के मुद्दों पर सारगर्भित व सकारात्मक चर्चा करेंगे। सभी सदस्यों से सदन की कार्यवाही शांतिपूर्ण ढंग से संचालित करने में सहयोग की अपील करती हूं। – ऋतु खंडूड़ी भूषण,

विधानसभा अध्यक्ष, उत्तराखंड

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.