सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ में घायल दो नागरिक, एक ने इलाज के दौरान थोड़ा दम

सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ में घायल दो नागरिक, एक ने इलाज के दौरान थोड़ा दम

दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के पंडोशान इलाके में गत सोमवार शाम को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ में घायल दो नागरिकों में से एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। रिहायशी इलाके में छिपे तीन आतंकी नागरिकों की आड़ में बच निकलने में सफल रहे। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों का एक जवान भी घायल हुआ था। हालांकि सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश के लिए अपना अभियान जारी रखा हुआ है। सुरक्षाबलों का कहना है कि ये आतंकी रिहायशी इलाके में एक मकान में छिपे हुए थे। उन्होंने मुठभेड़ स्थल से बच निकलने के लिए लोगों के बीच से गोलीबारी की। सुरक्षाबल तो जवाबी कार्रवाई नहीं कर पाए परंतु आतंकियों की इस गोलीबारी में दो स्थानीय नागरिक व एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों की आड़ में आतंकी बच निकलने में सफल रहे। उन्होंने बताया कि आज सुबह घायल दो स्थानीय नागरिकों में से एक शाहिद गनी डार पुत्र अब्दुल गनी डार निवासी पंडोशन शोपियां ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। हालांकि दूसरे घायल नागरिक शोहेब अहमद मंटू व सुरक्षाकर्मी संजीव दास की हालत बेहतर बताई जा रही है। दोनों का इलाज सेना के 92 बेस अस्पताल में चल रहा है। मुठभेड़ के दौरान घायल होने के बाद तीनों को हेलीकाप्टर की मदद से अस्पताल तक पहुंचाया गया था।

आपको बता दें कि शोपियां में एक ही दिन में यह दूसरी मुठभेड़ थी। इससे पूर्व सोमवार दोपहर को शोपियां के ही हेफ शीरमाल में सुरक्षाबलों व अातंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। करीब आधा घंटे तक दोनों तरफ से गोलियां चली और उसके बाद आतंकी वहां से भागने में कामयाब रहे। दक्षिण कश्मीर के पंडोशान, शोपियां में सोमवार शाम को सुरक्षाबलों की घेराबंदी तोड़ भागने का प्रयास कर रहे आतंकियों की फायरिंग की चपेट में आकर दो ग्रामीण घायल हो गए। इस दौरान एक सैन्यकर्मी अन्य ग्रामीणों को मुठभेड़स्थल से सुरक्षित निकालने के प्रयास में आतंकियों की गोली से जख्मी हो गया।

शाम छह बजे के करीब सुरक्षाबलों को पंडोशान, शोपियां में आतंकियों का एक दल देखे जाने की सूचना मिलते ही सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने तलाशी अभियान चलाया। सुरक्षाबलों को अपने ठिकाने की तरफ आते देख, आतंकियों ने वहां से भागने का प्रयास करते हुए अपने स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध फायरिंग की। उन्होंने सुरक्षाबलों पर एक ग्रेनेड भी फेंका। आतंकियों द्वारा भागने के प्रयास में की गई अंधाधुंध फायरिंग की चपेट में आकर दो ग्रामीण जख्मी हो गए। जवानों ने आतंकियों की गोली का जवाब देेते हुए दोनों घायल ग्रामीणों को वहां से निकाला। इन दोनों को उपचार के लिए हैलीकाप्टर के जरिए श्रीनगर में सेना के 92 बेस अस्पताल में ले जाया गया है।

इस बीच नागरिकों को सुरक्षित निकालने के प्रयास में एक सैन्यकर्मी भी आतंकियों की गोली का निशाना बन गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे भी उपचार के लिए सेना के 92 बेस अस्पताल पहुंचाया गया। अंधेरा होने व स्थानीय लोगों की सुरक्षा की वजह से सुरक्षाकर्मी आतंकियों पर जवाबी फायरिंग नहीं कर पाए और वे इस बात का फायदा उठाकर वहां से फरार होने में कामयाब हो गए।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.