ताजनगरी आगरा में आज जुमे की नमाज को लेकर पुलिस हाईअलर्ट पर, कानपुर में धारा 144 लागू

ताजनगरी आगरा में आज जुमे की नमाज को लेकर पुलिस हाईअलर्ट पर, कानपुर में धारा 144 लागू

कानपुर शहर में बीती तीन जून को जुमे की नमाज के बाद उपद्रव तथा हिंसा के कारण आज प्रदेश भर में हाई अलर्ट है। कानपुर में धारा 144 लागू की गई है, जबकि अन्य शहरों के सभी थाना क्षेत्र में जुमा की नमाज को लेकर पुलिस की टीमें बेहद सतर्क हैं।

कानपुर में शुक्रवार को होने वाली जुमे की नमाज को लेकर प्रसाशन मुस्तैद है। जिले में आज धारा 144 लागू की गई है। आज जुमा की नमाज भी होनी है, इसके लिए प्रशासन खास सर्तकता बरत रहा है। जिला तथा पुलिस प्रशासन अतिरिक्त पुलिस बल के साथ शहर के चप्पे चप्पे पर प्रशासन नजऱ बनाए हुए है। शहर के साथ ही अन्य संवेदनशील इलाकों पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। आज पुलिस के ख़ुफिया तंत्र को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। इंटरनेट मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों को लेकर भी पुलिस की साइबर सेल एक्टिव है। जिससे इंटरनेट मीडिया पर भ्रामक खबर फैलाने वालों पर शिकंजा कसा जा सके। एसीपी स्तर पर पीस कमेटी बनाई गई है जो आज शांति की अपील करेगी।

कानपुर के पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा के मुताबिक पीस कमेटी के लोग शुक्रवार को हर जगह मौजूद रहेंगे। कानुपर में आज जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन किसी भी ढील के मूड में नहीं है। इसी कारण है कि शहर में आज धारा 144 लागू है। सभी से शांति व्यवस्था बनाये रखे जाने की अपील की जा रही है। डीजीपी मुख्यालय ने जुमे की नमाज को लेकर पूरे प्रदेश में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस धर्म गुरुओं से बात भी कर रही है और अराजक तत्वों पर नजर रख रही है। कोई भी गड़बड़ी करेगा उसके खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

ताजनगरी आगरा में आज जुमे की नमाज को लेकर पुलिस हाईअलर्ट पर है। पुलिस ने संवेदनशील इलाकों में पैदल गश्त की है। दोपहर में यह प्रक्रिया एक बार फिर होगी। इसके साथ ही सभी संवेदनशील इलाकों में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। जिले के संवेदनशील इलाकों में मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई है। सुबह से पुलिस फोर्स और अधिकारी अलर्ट हैं।

वाराणसी में अतिरिक्त सुरक्षा : वाराणसी में जुमे की नमाज को लेकर ज्ञानवापी मस्जिद में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। किसी भी प्रकार की अफवाह फैलाने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश हैं। एडवोकेट कमिश्नर की कार्यवाही के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद का वजूखाना सील करने के बाद आज चौथे जुमा की नमाज मस्जिद में होनी है। इसे लेकर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। गुरुवार को इंटरनेट मीडिया में जमीयत-उल-ओलमा-ए-हिंद के नाम से भारत बंद के एलान की अफवाह इंटरनेट मीडिया में वायरल होने के बाद से वाराणसी में पुलिस अलर्ट मोड में है। अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। लोकल इंटेलिजेंस यूनिट को भी अलर्ट किया गया है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के क्रम में ज्ञानवापी मस्जिद की देखरेख करने वाली संस्था अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद के साथ ही बुनकरों की संस्था बुनकर बिरादराना तंजीम बाइसी कमेटी की ओर से अपील जारी कर शांति व्यवस्था बनाए रखने और अफवाहों पर जरा सा भी ध्यान ना देने का आग्रह किया गया है।

बरेली में ड्रोन से मस्जिद के पास के क्षेत्रों की छतों की निगरानी : बरेली में ड्रोन से मस्जिदों के आसपास छतों की निगरानी की जा रही, एक दिन पहले इसी तरह पत्थर तलाशे गए थे। प्रत्येक थाना क्षेत्र को दो-दो ड्रोन दिए गए हैं। मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में थाना पुलिस के साथ पांच कंपनी पीएसी, दो कंपनी आरएएफ लगाई गई है। पीलीभीत में सभी प्रमुख मस्जिदों के आसपास पुलिस तैनात की गई है। आज सुबह से ही अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे। अलीगढ़ में भी सतर्कता बढ़ती जा रही है। कल बाजार बंद की अपील करती पोस्ट इंटरनेट मीडिया पर की गई थी। इस मामले में कल रात तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। संवेदनशील इलाकों में पुलिस तैनात की गई है।

मेरठ में भी सतर्कता : मेरठ में भी सतर्कता बरती जा रही है। जिले को सात जोन में बांटकर सभी प्रमुख मस्जिदों के आसपास पुलिस तैनात की गई है। डीएम एसएसपी समेत तमाम अफसर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। इंटरनेट मीडिया पर पैनी नजर रखी जा रही है। कासगंज जिले में जुमे की नमाज को लेकर जिला तथा पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है। मिश्रित आबादी के साथ मुस्लिम बाहुल्य इलाकों एवम नमाज स्थलों पर पुलिस तैनात की गई है। फिरोजाबाद शहर और मिश्रित आबादी में फोर्स तैनात है। यहां पर चूड़ी कारखानों में समुदाय विशेष के कारीगरों और मजदूरों के न पहुंचने से काम शुरू नहीं हो सका है। यहां पर कल कारखाने बंद रहने की अफवाह फैलाई गई थी। लखीमपुर खीरी में जुमा की नमाज को लेकर सभी थानों में अलर्ट है। सभी जगह पर फोर्स को पेट्रोलिंग करने के निर्देश हैं। इसके साथ ही जिला तथा पुलिस प्रशासन ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

कानपुर में बीते शुक्रवार जुमे के नमाज के बाद दो पक्षों में विवाद के बाद पत्थरबाजी के साथ फायरिंग भी हुई थी। नमाज के बाद एक मुस्लिम संगठन ने बाजार बंद करा कर परेड निकालने की कोशिश की थी। तीन जून को कानपुर देहात में राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.