मौज मस्ती के चक्कर में तीन घरों के बुझ गए इकलौते चिराग

मौज मस्ती के चक्कर में तीन घरों के बुझ गए इकलौते चिराग

बागेश्वर: बागेश्वर जिले के गोगिना में गधेरे में नहा रहे चार बच्चे डूब गए। तीन के शव बरामद हो गए हैं जबकि एक की खोजबीन जारी है। घटनास्थल जिला मुख्यालय से करीब 90 किमी दूर है। गोगिना गांव के चार बच्चे अभिषेक (15) पुत्र त्रिलोक सिंह रौतेला, अजय (14) पुत्र नारायण सिंह रौतेला, पंकज(14) पुत्र दुर्गा सिंह टाकुली, विक्रम (13) पुत्र नारायण सिंह दानू सोमवार दोपहर पास स्थित पर्थी रौला (गधेरे) में नहा रहे थे।

नहाने के दौरान अचानक चारों बच्चे गहराई में डूब गए। बच्चों के डूबने की जानकारी मिलने पर गांव के लोग मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहा है कि अभिषेक, अजय और पंकज के शव बरामद हो गए हैं। विक्रम अभी लापता है। अभिषेक, अजय और पंकज हल्द्वानी में पढ़ाई करते थे। अभिषेक और अजय चचेरे भाई थे।

गोगिना गांव में हुई घटना ने तीन परिवारों के इकलौते चिराग बुझा दिए। चौथे बेटे का अभी पता नहीं चल सका है। उसकी खोजबीन की जा रही है। जान गंवाने वाले तीनों किशोर हल्द्वानी में रहकर पढ़ाई कर रहे थे और गर्मी की छुट्टी बिताने घर आए थे। एक साथ चार बच्चों के डूबने और तीन घरों के इकलौते चिराग बुझने की घटना ने लोगों को स्तब्ध कर दिया है। 

सोमवार को गोगिना गांव के कालिका मंदिर में पूजा का कार्यक्रम था। सभी ग्रामीण मंदिर में चल रहे पूजा के कार्यक्रम में व्यस्त थे। इस दौरान कब अभिषेक, अजय और पंकज नहाने निकल गए किसी को भनक नहीं लगी। करीब तीन घंटे बाद भी जब किशोर नहीं दिखे तो गांव वालों ने उनकी खोजबीन शुरू की। कुछ ग्रामीणों ने उन्हें पर्थी गधेरे (रौला) की तरफ जाने की बात कही। 

यह सुनकर ग्रामीणों को अनहोनी की आशंका होने लगी और सभी लोग भागे-भागे गधेरे की तरफ दौड़े। गधेरे में एक किशोर पानी में पड़ा मिला। कुछ ग्रामीणों ने गधेरे में उतरकर उसे बाहर निकाला तो उसकी सांसें थम चुकी थी। इसके बाद बाकी किशोरों की खोजबीन शुरू की गई। उसी तालाब से दो और शव बरामद किए गए। 

अभिषेक, अजय और पंकज की लाश देखने के बाद गांव का माहौल ही बदल गया। जहां एक पल पहले पूजा का उत्साह और खुशियां थीं, वहीं अब चीख-पुकार और रुदन होने लगा। ग्रामीणों ने विक्रम को खोजने का प्रयास किया लेकिन देर शाम तक उसका पता नहीं चल सका। 

पूजा के बाद हल्द्वानी लौटने वाले थे 
गोगिना हादसे में जान गंवाने वाले अभिषेक, अजय और पंकज तीनों हल्द्वानी से पढ़ाई कर रहे थे। इन दिनों वह गर्मी की छुट्टियां बिताने घर आए थे। घर आकर तीनों किशोर बेहद खुश थे। सोमवार को पूजा के बाद उनके परिवार का हल्द्वानी लौटने का कार्यक्रम था।

स्कूल से अवकाश लेकर घर पर रुका था विक्रम
गोगिना हादसे में लापता किशोर विक्रम गोगिना हाईस्कूल  दसवीं का छात्र है। विद्यालय के शिक्षक दीपक प्रकाश ने बताया कि नियमित रूप से विद्यालय आने वाले विक्रम ने अवकाश लिया था। 

हादसे से गमगीन लोग
गोगिना के हृदयविदारक घटना से पूरे इलाके में शोक की लहर है। पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, कपकोट के नगर पंचायत अध्यक्ष गोविंद बिष्ट ने घटना पर दुख प्रकट किया है। फर्स्वाण और ऐठानी ने डीएम विनीत कुमार से बात कर मृतक बच्चों का पोस्टमार्टम गोगिना में ही कराने की मांग की है। प्रभावित परिवारों की भरपूर मदद की मांग भी सरकार और प्रशासन से की है।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.