सीएम धामी ने चंडी प्रसाद भट्ट समेत 31 हस्तियों को किया सम्मानित

सीएम धामी ने चंडी प्रसाद भट्ट समेत 31 हस्तियों को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सुविख्यात पर्यावरण आंदोलनकारी पद्मभूषण चंडी प्रसाद भट्ट, आईआईटी के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी, पद्मश्री बसंती बिष्ट, डॉ. माधुरी बड़थ्वाल, प्रीतम भरतवाण, जन कवि अतुल शर्मा समेत कई हस्तियों को सम्मानित किया और उन्हें स्मृति चिह्न प्रदान किया। उन्होंने कहा कि अमर उजाला ने प्रदेश की इतनी हस्तियों को सम्मानित कर वह खुद को सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

इन हस्तियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में एक से बढ़कर एक काम किए हैं। यदि कोई जज होता तो उनके लिए भी यह कठिन होता कि इसमें सबसे उत्कृष्ट कौन है? मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम में आकर उन्हें बहुत सुखद अनुभूति हो रही है। अमर उजाला अपने आप में नाम ही पर्याप्त है। उजाला जो अमर है। सीएम ने कहा कि बचपन में उन्होंने सबसे पहले अखबार पढ़ना शुरू किया तो अमर उजाला ही पढ़ा।

अमर उजाला ने जिस तरह से समाज के क्षेत्र में प्रदेश और देश में बहुत सारी चीजों को प्रखरता एवं निष्पक्षता से उठाना शुरू किया। वह सभी के लिए एक पारखी है। उन खबरों को उठाना लोगों के सामने लाना अमर उजाला ने न यह पक्ष न वह पक्ष हमेशा जनपक्ष बनकर काम किया है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अमर उजाला की स्थापना के 75 वें वर्ष में प्रवेश के उपलक्ष्य पर दून में बृहस्पतिवार को आयोजित अमर उजाला उत्कृष्टता समारोह में समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वाली 31 विशिष्ट हस्तियों को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सुविख्यात पर्यावरण आंदोलनकारी पद्मभूषण चंडी प्रसाद भट्ट, आईआईटी के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी, पद्मश्री बसंती बिष्ट, डॉ. माधुरी बड़थ्वाल, प्रीतम भरतवाण, जन कवि अतुल शर्मा समेत कई हस्तियों को सम्मानित किया और उन्हें स्मृति चिह्न प्रदान किया। उन्होंने कहा कि अमर उजाला ने प्रदेश की इतनी हस्तियों को सम्मानित कर वह खुद को सम्मानित महसूस कर रहे हैं।इन हस्तियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में एक से बढ़कर एक काम किए हैं। यदि कोई जज होता तो उनके लिए भी यह कठिन होता कि इसमें सबसे उत्कृष्ट कौन है? मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम में आकर उन्हें बहुत सुखद अनुभूति हो रही है। अमर उजाला अपने आप में नाम ही पर्याप्त है। उजाला जो अमर है। सीएम ने कहा कि बचपन में उन्होंने सबसे पहले अखबार पढ़ना शुरू किया तो अमर उजाला ही पढ़ा।अमर उजाला ने जिस तरह से समाज के क्षेत्र में प्रदेश और देश में बहुत सारी चीजों को प्रखरता एवं निष्पक्षता से उठाना शुरू किया। वह सभी के लिए एक पारखी है। उन खबरों को उठाना लोगों के सामने लाना अमर उजाला ने न यह पक्ष न वह पक्ष हमेशा जनपक्ष बनकर काम किया है।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.