जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश : व्हाट्सएप और जस्ट डायल पर होता था जिस्म का सौदा, पुलिस ने तीन पुरुषों और दो महिलाओं को किया गिरफ्तार

जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश : व्हाट्सएप और जस्ट डायल पर होता था जिस्म का सौदा, पुलिस ने तीन पुरुषों और दो महिलाओं को किया गिरफ्तार

मसूरी: मसूरी में अंतर्राज्यीय ऑनलाइन देह व्यापार गैंग का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस और एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने तीन पुरुषों और दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है। दबोचे गए पुरुषों में दो हरियाणा और एक पश्चिम बंगाल का है, जबकि महिलाओं में एक दिल्ली और दूसरी यूपी के अलीगढ़ की रहने वाली है। पुलिस ने एक कार, एक एसयूवी समेत अन्य सामान भी बरामद किया है। गिरोह पर्यटकों को व्हाट्सएप और ऑनलाइन साइट जस्ट डायल से संपर्क कर शिकार बनाता था। पुलिस के मुताबिक, बरामद कारों से महिलाओं को ठिकाने तक पहुंचाया जाता था। पुलिस ने सभी को जेल भेज दिया है। एसएसपी/डीआईजी जन्मेजय खंडूडी को शहर देह व्यापार की शिकायतें मिल रहीं थी। इस बाबत एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून और एसओजी की टीम बनाकर रैकेट के भंडाफोड़ करने का जिम्मा सौंपा गया। दोनों टीमों को पता चला कि हरियाणा के कुछ लोग स्पा सर्विस के नाम पर देह व्यापार के लिए बाहरी राज्यों से महिलाओं को लाकर व्हाट्सएप और आनलाइन सेक्स रैकेट चला रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक (अपराध) बिशाखा अशोक भड़ाने के निर्देशन पर शनिवार की रात एएचटीयू टीम, पुलिस और एनजीओ इंपावरिंग पीपल के मुख्य कार्यकारी ज्ञानेंद्र कुमार के साथ भट्टा गांव के पास होटल में छापा मारकर ऑनलाइन स्पा सर्विस चलाने वाले तीन पुरुषों और दो महिलाओं को सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

सभी आरोपियों के खिलाफ शहर कोतवाली में अनैतिक देह व्यापार निवारण में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपियों के पास से आपत्तिजनक सामग्री, टैबलेट और नकद धनराशि भी बरामद की है।

पुलिस के मुताबिक, गिरोह का सरगना किशन उर्फ सोनू लॉकडाउन से पहले मसूरी के एक होटल में काम करता था। लॉकडाउन लगने के बाद अपने घर हरियाणा चला गया था और पिछले माह ही मसूरी वापस आया था। पुलिस के मुताबिक, स्पासर्विस के नाम पर जस्ट डायल पर रजिस्ट्रेशन कराकर उसने लड़कियों के माध्यम से देह व्यापार का काम शुरू किया।

ये हुए गिरफ्तारहरियाणा के जींद के बीबीपुर निवासी किशन, हरियाणा के जींद का अमरजीत, पश्चिम बंगाल प्रांत के मालदा के हबीबपुर निवासी स्वप्न मंडल, पश्चिमी दिल्ली के शकूरपुर सरस्वती विहार निवासी कंचन गुप्ता, यूपी के अलीगढ़ के सिकंदरपुर निवासी सुधा देवी।

मसूरी में आने वाले कई पर्यटकों को ऑनलाइन लड़कियों की फोटो भेजकर सौदा तय किया जाता था और ग्राहकों से गैंग आनलाइन पेमेंट लेता था। इसके बाद लड़कियों को कार और एसयूवी के माध्यम से तय स्थान पर भेजा जाता था।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.