Friday , March 22 2019
Home / प्राइम / यूपी: गाजीपुर पथराव में CM योगी ने पथराव में सिपाही की मौत पर जताया दुख, 50 लाख मुआवजे का एलान, 32 पर केस दर्ज
photo

यूपी: गाजीपुर पथराव में CM योगी ने पथराव में सिपाही की मौत पर जताया दुख, 50 लाख मुआवजे का एलान, 32 पर केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर  में निषाद समाज पार्टी  के कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए पथराव में एक सिपाही की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने 32 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। वहीं 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं। गाजीपुर के सीओ सिटी एमपी पाठक ने बताया कि कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मृतक सिपाही सुरेश वत्स के बेटे वीपी सिंह ने कहा कि पुलिस अब अपनी सुरक्षा नहीं कर पा रही है। हम उनसे क्या उम्मीद कर सकते हैं? अब हम मुआवजे के साथ क्या करेंगे? इससे पहले बुलंदशहर और प्रतापगढ़ में इसी तरह की घटनाएं हुई थीं।

क्या था मामला 

गाजीपुर में निषाद समाज पार्टी के अध्यक्ष के स्वागत में खड़े कार्यकर्ताओं को रोकने पर शनिवार की शाम जमकर हंगामा किया। कठवांमोड़ चौराहे पर कार्यकर्ताओं ने जाम लगाकर बवाल काटा। वाहनों में तोड़फोड़ के साथ आगजनी की। रोकने गए पुलिसकर्मियों पर पथराव किया और दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। पथराव में एक सिपाही की मौत हो गई और कई घायल हैं। फोर्स के साथ पहुंचे आला अधिकारियों ने बवाल करने वाले लोगों को खदेड़ दिया। कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

प्रदेश अध्यक्ष संजय निषाद गाजीपुर से गुजरकर गोरखपुर की ओर जा रहे थे। उनके स्वागत के लिए समाज के काफी लोग कठवा मोड़ पुल के पास मौजूद थे। निषाद समाज के लोग अपने नेता के स्वागत के लिए मेन रोड पर आ गये थे। चूंकि पीएम की सभा से काफी गाड़ियां मुहम्मदाबाद की ओर जा रही थी। ऐसे में पुलिसकर्मियों ने निषाद समाज के लोगों को वहां से हटाने का प्रयास किया। इसी बीच किसी ने सूचना दी कि अंधऊ के पास स्वागत कार्यक्रम में मौजूद पांच लोगों को पुलिस ने पकड़ लिया है। इसके बाद निषाद समाज के लोगों की भीड़ उग्र हो गई और चक्काजाम कर दिया। पुलिस को देखते ही भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। पथराव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से लौट रहे भाजपा नेताओं की कारें और बस भी क्षतिग्रस्त हो गई।  पत्थर लगने से करीमुद्दीनपुर थाने में तैनात हेडकान्स्टेबल सुरेन्द्र वत्स  घायल हो गए। अस्पताल ले जाते समय उनकी मौत हो गई।

एसपी यशवीर सिंह समेत एएएसपी सिटी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस के जवानों ने हल्का बल प्रयोग कर जाम को समाप्त किया। एसपी ने बताया कि घटना की सूचना मृतक के परिवार के लोगों को मोबाइल के जरिये दे दी गई है। इस मामले में मुकदमा दर्ज किया जायेगा। उन्होंने बताया कि बवालियों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। मारे गए सिपाही सुरेंद्र वत्स प्रतापगढ़ के लक्षीपुर-रानीपुर के मूल निवासी थे।
50 लाख मुआवजे का एलान
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को गाजीपुर जिले में भीड़ की ओर से किए गए पथराव में पुलिस कांस्टेबल सुरेश वत्स की मौत पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने परिवार को 50 लाख रुपये आर्थिक सहायता और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। शोक संतप्त परिवारीजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दिवंगत पुलिस कांस्टेबल सुरेश वत्स की पत्नी को 40 लाख तथा उनके माता-पिता को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। उन्होंने दिवंगत पुलिसकर्मी की पत्नी को असाधारण पेंशन तथा परिवार के एक सदस्य को मृतक आश्रित के तौर पर सरकारी नौकरी देने की घोषणा भी की है। इसके साथ ही उन्होंने गाजीपुर के डीएम व एसपी को निर्देशित किया है कि घटना के दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए।

About एच बी संवाददाता

Check Also

kesari

अक्षय कुमार की फिल्म केसरी की बॉक्स ऑफीस पर धमाकेदार सुरुआत

मुंबई। Kesari Box Office Collection होली के दिन रिलीज़ हुई अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘केसरी’ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *