चीन में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम नहीं, भारत ने शंघाई में बंद की कांसुलर सेवाएं

चीन में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम नहीं, भारत ने शंघाई में बंद की कांसुलर सेवाएं

चीन में कोरोना की तीसरी लहर काबू में नहीं आ रही है। सख्त प्रतिबंधों के बावजूद चीन में कोरोना के रिकार्ड मामले सामने आ रहे हैं। चीन में बीते 24 घंटे में कोरोना के 26 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

सरकार ने बुधवार को बताया कि 12 अप्रैल को कोरोना के स्पर्शोन्मुख 25,141 नए मामले सामने आए हैं। जबकि लक्षण वाले 1189 मामले मिले हैं। एक ही दिन पहले स्पर्शोन्मुख मामले 22,348 थे।

जीरो कोविड नीति का किया बचाव

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच चीन की जीरो कोविड नीति की आलोचना हो रही है। हालांकि चीन सरकार ने इसका बचाव किया है। मंगलवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए चीनी विदेश मंत्री के प्रवक्ता ने कहा, ‘चीन की जीरो कोविड नीति महामारी विरोधी प्रोटोकाल विज्ञान और विशेषज्ञों की राय पर आधारित है।’ उन्होंने कहा कि कोविड को लेकर बनाई गई नीतियां डब्ल्यूएचओ के सिद्धातों पर आधारित हैं।

भारतीय दूतावास ने शंघाई में बंद की कांसुलर सेवाएं

शंघाई में सख्त लाकडाउन के कारण हालात बुरे हैं। बीजिंग में भारतीय दूतावास ने बड़ा अपडेट दिया है। भारतीय दूतावास ने कहा कि शंघाई में लाकडाउन के कारण भारत के महावाणिज्य दूतावास से संपर्क नहीं हो पा रहा है। दूतावास ने कहा कि महावाणिज्य दूतावास शंघाई में व्यक्तिगत रूप से कांसुलर सेवाएं प्रदान करने की स्थिति में नहीं है। दूतावास ने भारतीयों के लिए गाइडलाइन्स भी जारी की हैं।

अमेरिका ने वापस बुलाए अपने कर्मचारी

इससे पहले अमेरिका ने शंघाई में अपने गैर आपातकालीन सरकारी कर्मचारियों को शहर छोड़ने का आदेश दिया था। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने इसको लेकर निर्देश दिया है। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, इस दौरान अमेरिकी अधिकारी वाणिज्य दूतावास में ड्यूटी पर तैनात रहेंगे।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.