Sunday , February 24 2019
Home / Uncategorized / प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिबन काटकर ‘उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट’ का किया उद्घाटन
Photo 01, dt. 07 October, 2018

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिबन काटकर ‘उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट’ का किया उद्घाटन

देहरादून :देहरादून के रायपुर स्थित अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिबन काटकर ‘उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट’ का उद्घाटन किया। इन्वेस्टर्स समिट को जापान के अंबेसडर, अदानी ग्रुप, अडानी ग्रुप, पतंजलि के आचार्य बाल कृष्ण, महिंद्रा ग्रुप के पवन कुमार, आईटीसी के संजीव पुरी ने समिट को संबोधित किया। उत्तराखंड में उद्योगों की संभावनाओं पर अपने विचार रखे।

इससे पहले पीएम मोदी वायुसेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंचे। राज्यपाल बेबी रानी मौर्या, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह और पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूडी ने पीएम मोदी का स्वागत किया। इसके बाद पीएम मोदी वायुसेना के एमआइ-17 हेलीकॉप्टर से देहरादून के कार्यक्रम स्‍थल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे। पीएम मोदी ने रिबन काटकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके बाद पीएम को उत्तराखंड की खूबसूरती की तस्वीरें दिखाई गई। वीडियो क्लीपिंग के जरिये पीएम को राज्‍य में संभावनाएं बताई गईं। वन, पर्यटन, बागवानी, धर्म और संस्कृति के नजारे दिखाए गए। प्रदर्शनी देखने के दौरान पीएम मोदी ने फूड प्रोसेसिंग के स्टाल पर जानकारी ली। उद्घाटन के अवसर पर पारंपरिक मांगल गीत ‘दैंणा हुंय्या, खोलि का गणेशा..’ की प्रस्तुति दी गई। यह प्रस्तुति देने वाले 30 कलाकारों का दल उत्तराखंड के पारंपरिक परिधानों में सजा हुआ था।

इन्वेस्टर्स समिट के उद्घाटन अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हीं की सोच और प्रेरणा से आज यह आयोजन किया जा रहा है। मुख्य सचिव ने हिमालय और प्रकृति की गोद मे स्थित गंगा, यमुना, संतों, सूफियों और गुरुओं की धरती को तप भूमि बताते हुए कहा कि आदि गुरु शंकराचार्य, गुरु गोविंद सिंह जी, सूफी संत हजरत साबिर कलियारी, स्वामी विवेकानंद और महात्मा गांधी की तपोभूमि है। यहां के लोगों की उद्यमिता की वजह से ही युवा स्टार्टअप, महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा निर्मित प्रसाद, सड़कों की मरम्मत, होम स्टे जैसी गतिविधियां चल रहीं हैं। विगत 18 वर्षों राज्य की प्रति व्यक्ति जीएसडीपी दस गुना बढ़कर 1.60 लाख रुपये हो गई है। रोड नेटवर्क 789 किलोमीटर प्रति 1000 वर्ग किलोमीटर हो गई है।

उन्होंने कहा कि विकास के साथ साथ यहां के लोगों ने प्रकृति के संरक्षण में भी योगदान दिया है। श्री सिंह ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि राज्य की अनूठी विशेषताओं का आकलन कर 12 क्षेत्रों को चिन्हित किया गया है। खाद्य प्रसंस्करण, पर्यटन एवं आतिथ्य, आयुष एवं वैलनेस, ऑटोमोबाइल और ऑटो उपकरण, फार्मास्युटिकल्स, नेचुरल फाइबर्स, हॉर्टिकल्चर एवं फ्लोरीकल्चर, जड़ी बूटी एवं सगंध पादप, आईटी, बायो टेक्नोलॉजी,नवीनीकरण ऊर्जा सेक्टर प्रमुख हैं।

About एच बी संवाददाता

Check Also

shooting1_18976955

पाक निशानेबाजों को वीजा न देने पर IOC ने उठाया बड़ा कदम, भारत नहीं कर सकेगा इन खेलों की मेजबानी

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आइओसी) ने पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा देने से इन्कार के बाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *