Saturday , January 19 2019
Home / देश / भारत और चीन में हमारी संस्कृति और जिंदगी जीने के तरीकों में है काफ़ी समानता : रानी मुखर्जी
rani mukharji

भारत और चीन में हमारी संस्कृति और जिंदगी जीने के तरीकों में है काफ़ी समानता : रानी मुखर्जी

नयी दिल्ली। अभिनेत्री रानी मुखर्जी का मानना है कि भारत और चीन में बहुत सी सांस्कृतिक समानताएं हैं और इसी कारण वहां भारतीय फिल्में कामयाब होती हैं। मुखर्जी ने कहा कि वहां बॉलीवुड के प्रति जिस तरह का प्यार और सम्मान है, वह भी वाकई हैरत में डालने वाला है। मुखर्जी ‘हिचकी’ फिल्म का प्रचार करने के लिए पड़ोसी मुल्क गई थीं। इस फिल्म में अभिनेत्री ने तौरेत सिंड्रोम से ग्रस्त एक शिक्षिका की भूमिका निभाई है। इस बीमारी में मुंह से अनचाही आवाजें निकलती हैं।

‘हिचकी’ फिल्म भारत में इस साल मार्च में रिलीज हुई थी और यह फिल्म चीन के सिनेमाघरों में उम्दा प्रदर्शन कर रही है। अभिनेत्री ने इस फिल्म का प्रचार करने के लिए चीन के कई शहरों का दौरा किया है। इस फिल्म ने चीन में बॉक्स ऑफिस पर 150 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है।

उन्होंने कहा, ‘‘ दर्शकों और चीनी लोगों से बातचीत करने ने मेरी पूरी यात्रा को मेरे लिए और प्रेरक बना दिया। यह अद्भुत है और आश्चर्यजनक है कि जिस तरह का प्यार उनमें भारतीय अभिनेता के लिए है और जिस तरह का सम्मान वे आपको देते हैं, वे वाकई असाधारण है।’’ अभिनेत्री का मानना है कि भारतीय फिल्में चीन में इसलिए बेहतर प्रदर्शन करती हैं कि क्योंकि दोनों देश के बीच बहुत सी सांस्कृतिक समानताएं हैं। मुखर्जी ने कहा, ‘‘हमारी संस्कृति और जिंदगी जीने का तरीका समान है। भारतीय और चीनी लोग पारिवारिक जीवन और रहन सहन के तरीकों में बहुत समान हैं। बहुत सारी चीजें समान हैं। इसलिए यह कहानी से उन्हें जोड़ लेती है।’’

About एच बी संवाददाता

Check Also

mamtraily_18868960_12230347

ममता बनर्जी की महारैली का मिशन 2019, दिग्गज नेताओं का जमावड़ा

कोलकाता। इस साल आम चुनाव से पहले विपक्षी एकता बनाने की जुगत में लगी ममता बनर्जी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *