Saturday , January 19 2019
Home / उत्तर प्रदेश / सपा और बसपा गठबंधन का औपचारिक ऐलान, लोस चुनाव में 38-38 सीटों पर बनी सहमति
AKHILESH MAYA

सपा और बसपा गठबंधन का औपचारिक ऐलान, लोस चुनाव में 38-38 सीटों पर बनी सहमति

सपा और बसपा के बीच गठबंधन  को लेकर सिर्फ यूपी ही नहीं पूरे देश की सियासत गर्म है। आज बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती व समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव लखनऊ में सपा-बसपा गठबंधन पर साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। सपा-बसपा के दिग्गज नेता इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए हैं। अखिलेश यादव ने कहा था कि यह महागठबंधन लोकसभा चुनाव में भारी जीत दर्ज करेगा। वहीं उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा के बीच गठबंधन की घोषणा की संभावना की पृष्ठभूमि में कांग्रेस  ने शुक्रवार को कहा कि समान विचार वाले सभी दलों का उद्देश्य देश से ‘कुशासन’ और तानाशाही को खत्म करना है। लेकिन सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य में उसकी किसी भी तरह उपेक्षा करना राजनीतिक रूप से ‘खतरनाक भूल’ होगी।

सपा और बसपा की दोस्ती में मुस्लिम वोट बैंक सबसे अहम फैक्टर
मायावती और अखिलेश की पार्टी के बीच हो रही दोस्ती के केंद्र में मुस्लिम वोट बैंक है। लोकसभा चुनाव के दौरान इस वोट बैंक में दोनों ही दल बिखराव नहीं चाहते। जिसे वह अपनी जीत की कुंजी मान रहे हैं। सपा और बसपा में 26 साल के लंबे समय बाद दोस्ती होने जा रही है। दोनों ही दलों की मुख्य ताकत मुस्लिम वोट बैंक को माना जाता है। मुस्लिम वोट बैंक जब भी जिस तरफ गया, दोनों में से उसी दल ने जीत हासिल की है। दोनों ही दलों द्वारा मुस्लिमों को साधने के लिए तमाम प्रयास किए जाते रहे हैं। उनका प्रयास है कि लोकसभा चुनाव में यह मुस्लिम वोट बैंक एकजुट रहे, जिसमें कोई बिखराव ना हो और उसके साथ ही उन्हें दलित, पिछड़ों और अति पिछड़ों का भी साथ मिले, जिससे वह भाजपा को हरा सकें।

About एच बी संवाददाता

Check Also

mamtraily_18868960_12230347

ममता बनर्जी की महारैली का मिशन 2019, दिग्गज नेताओं का जमावड़ा

कोलकाता। इस साल आम चुनाव से पहले विपक्षी एकता बनाने की जुगत में लगी ममता बनर्जी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *