Friday , March 22 2019
Home / प्राइम / जाने बर्थडे बॉय इरफान खान की जिंदगी की पूरी कहानी
Irrfan-Khan

जाने बर्थडे बॉय इरफान खान की जिंदगी की पूरी कहानी

फिल्म सलाम बॉम्बे में चिट्‌ठी लिखते इरफान ने हासिल फिल्म में पिछड़ों के लिए संघर्ष किया। चाणक्य में सेनापति बनकर युद्ध नीतियों को सफल किया। डी-डे में पाकिस्तान की खबरें लाने का संघर्ष किया तो मदारी में होम मिनिस्टर के बेटे को किडनैप करने का हौसला दिखाया। फिल्मों के किरदारों में दिखा यही संघर्ष, यही हौसला और जज्बा असली जिदंगी में भी इरफान के साथ चल रहा है, तब भी जब वे दुर्लभ न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर से जूझ रहे हैं।

ऐसे सामने आई खबर

5 मार्च 2018.. वह तारीख जब एक्टर इरफान खान ने एक ट्वीट किया। इसके बाद यह पता चला कि इरफान को कोई दुर्लभ बीमारी है। लोग कयास लगाने लगे। इरफान ने लिखा था- कभी-कभी आप एक झटके से जागते हैं। पिछले 15 दिन मेरे जीवन की सस्पेंस स्टोरी रहे हैं। मैं दुर्लभ बीमारी से पीड़ित हूं। मैंने जिंदगी में कभी समझौता नहीं किया। मैं हमेशा अपनी पसंद के लिए लड़ता रहा और आगे भी ऐसा ही करूंगा। मेरा परिवार और दोस्त मेरे साथ हैं। हम बेहतर रास्ता निकालने की कोशिश कर रहे हैं। जैसे ही सारे टेस्ट हो जाएंगे, मैं आने वाले दस दिनों में अपने बारे में बात दूंगा। तब तक मेरे लिए दुआ करें।

फिलॉसफी और इरफान

16 मार्च को जब इरफान अपनी बीमारी दुनिया से शेयर करने वाले थे, तब भी वे फिलॉसफी को नहीं भूले। इरफान खान ने ट्वीट की शुरुआत मारग्रेट मिशेल के एक विचार से की। लिखा था- जिंदगी पर इस बात का आरोप नहीं लगाया जा सकता कि इसने हमें वो नहीं दिया जिसकी हमें इससे उम्मीद थी।पिछले कुछ दिनों में मैंने सीखा है कि अचानक सामने आने वाली चीजें हमें जिंदगी में आगे बढ़ाती हैं। मुझे मेरे न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर होने का पता चला। इसे कबूल करना आसान नहीं है। लेकिन, मेरे आसपास मौजूद लोगों के प्यार और मेरी इच्छाशक्ति ने मुझे उम्मीद दी है। बीमारी की वजह से मुझे विदेश जाना पड़ रहा है। आप सभी मेरे लिए दुआएं कीजिए। इस बीच उड़ी अफवाहों की बात करूं तो न्यूरो शब्द का इस्तेमाल हमेशा ब्रेन के लिए ही नहीं होता और रिसर्च के लिए गूगल से आसान रास्ता नहीं है। जिन लोगों ने मेरे लिखने का इंतजार किया, उम्मीद है उन्हें बताने के लिए कई कहानियों के साथ लौटूंगा।

इरफान की फिल्म जिसकी कहानी थी विवादित

फिल्म इंडियन समर की प्रिपरेशन 10 साल पहले 2009 में शुरू हुई थी। यूनिवर्सल पिक्चर्स ने इतिहासकार एलेक्स फॉन टुनत्सेलमन की बुक इंडियन समरः द सीक्रेट हिस्ट्री ऑफ द एंड ऑफ अ एम्पायर में लिखी एक कहानी पर फिल्म बनाने का काम शुरू किया। यह कहानी भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और आखिरी ब्रिटिश वाइसरॉय लॉर्ड माउंटबेटन की वाइफ एडविन के प्रेम संबंध पर बेस्ड थी।

About एच बी संवाददाता

Check Also

mayawari_akhilesh

बसपा ने 11 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की

लोकसभा चुनाव 2019 की लड़ाई महासंग्राम में बदल चुकी है। चुनाव तारीखों का एलान होते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *