Friday , October 19 2018
Home / खेल / भारत ने बांग्लादेश को हरा सातवीं बार बना एशिया कप चैम्पियन, लिटोन दास बने ‘मैन ऑफ द मैच’
india-won-asia-cup-cover_

भारत ने बांग्लादेश को हरा सातवीं बार बना एशिया कप चैम्पियन, लिटोन दास बने ‘मैन ऑफ द मैच’

नई दिल्ली। रोहित शर्मा की कप्तानी में भारत ने एशिया कप 2018 के फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश को तीन विकेट से हराकर खिताब पर कब्जा किया। एशिया कप के इतिहास में भारतीय टीम ने सबसे ज्यादा यानी 7 बार इस खिताब को जीता है। रोहित शर्मा ने विराट की गैरमौजूदगी में एशिया कप में भारतीय टीम की अगुआई की और टीम को खिताब दिलाया। शिखर धवन को सबसे ज्यादा रन (342) बनाने के लिए ‘प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट’ चुना गया जबकि लिटोन दास को ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब मिला।

भारतीय टीम ने इससे पहले वर्ष1984,1988,1990/91,1995,2010 और 2016 में ये खिताब जीता था। बांग्लादेश लगातार दूसरी बार एशिया कप के फाइनल में पहुंचा था लेकिन उसे इस बार भी हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले वर्ष 2016 में भी बांग्लादेश को एशिया कप के फाइनल में भारत ने हराया था। वैसे बांग्लादेश तीन बार एशिया कप के फाइनल में पहुंच चुका है लेकिन उसे एक बार भी जीत नसीब नहीं हुई।

इस खिताबी जंग में भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया। फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने ओपनर बल्लेबाज लिटन दास की शतकीय पारी के दम पर 48.3 ओवर में 222 रन पर सिमट गई। भारत को सातवीं बार एशिया कप जीतने के लिए 223 रन का लक्ष्य मिला था। जीत के लिए मिले इस लक्ष्य को भारतीय टीम ने तीन विकेट शेष रहते हासिल किया। भारतीय टीम को ये जीत 50वें ओवर की आखिरी गेंद पर मिली। भारत ने 50 ओवर में 7 विकेट पर 223 रन बनाए। इस पूरे मैच के दौरान रोमांच अपने चरम पर था और भारतीय टीम को एक-एक रन के लिए संघर्ष करना पड़ा।

भारतीय टीम ने किया जबरदस्त संघर्ष, जीता खिताब
भारत को पहला झटका नजमुल इस्लाम ने दिया, उन्होंने शिखर धवन को सौम्य सरकार के हाथों कैच आउट करा कर अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। कप्तान मशरफे मुर्तजा ने अंबाती रायडू को सिर्फ दो रन पर ही आउट कर दिया। रायडू का कैच मुर्तजा की गेंद पर विकेटकीपर मुश्फिकुर रहीम ने लपका। कप्तान रोहित शर्मा अपने अर्धशतक से चूक गए और रुबेल हुसैन की गेंद पर कैच आउट हुए। रोहित का कैच नजमुल इस्लाम ने लपका। उन्होंने 55 गेंदों का सामना करते हुए 48 रन बनाए। दिनेश कार्तिक ने धौनी के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रन की अहम साझेदारी की। इस साझेदारी को महमूदुल्लाह ने तोड़ दिया। कार्तिक महमूदुल्लाह की गेंद पर LBW आउट हो गए। महेंद्र सिंह धौनी ने 36 रन बनाए और मुस्ताफिजुर रहमान की गेंद पर उनका कैच विकेट के पीछे मुश्फिकुर रहीम ने पकड़ा। केदार जाधव 19 रन बनाकर रिटायर हर्ट होकर पवेलियन लौट गए।

Pak vs Ban: पाक को धूल चटाकर फाइनल में बांग्लादेश, अब भारत से होगी जंग
यह भी पढ़ें
अच्छी बल्लेबाजी कर रहे रवींद्र जडेजा अहम मौके पर 23 रन बनाकर आउट हो गए। रुबेल हुसैन की गेंद पर रहीम ने उनका कैच पकड़ा। जडेजा ने काफी सूझबूझ भरी पारी खेली और सातवें विकेट के लिए भुवी के साथ 45 रन की अहम साझेदारी की। भुवी ने 21 रन की पारी खेली और विकेट के पीछे रहीम के हाथों कैच आउट हुए। जडेजा के आउट होने के बाद एक बार फिर केदार जाधव बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे। केदार 23 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि कुलदीप यादव 5 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे।

मैच की दूसरी पारी में बांग्लादेश की तरफ से मुस्ताफिजुर रहमान और रुबेल हुसैन ने दो-दो जबकि नजमुल इस्लाम, मशरफे मुर्तजा और महमूदुल्लाह ने एक-एक विकेट लिए।

लिटन दास ने खेली 121 रन की पारी
भारत को पहली सफलता का इंतजार 20 ओवर तक करना पड़ा, केदार जाधव ने मेहदी हसन को अंबाति रायुडू के हाथों कैच आउट करवा बांग्लादेश को पहला झटका दिया। भारत को दूसरी सफलता इमरूल कायस के तौर पर मिली। स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उन्हें 2 रन पर LBW आउट कर दिया। कायस ने रिव्यू का भी इस्तेमाल किया लेकिन फैसला भारत के हक में ही रहा।

बेहतरीन फॉर्म में चल रहे बांग्लादेश के मध्यक्रम के बल्लेबाज मुश्फिकुर रहीम का बल्ला फाइनल में नहीं चल पाया। वो सिर्फ 5 रन बनाकर केदार जाधव की गेंद पर कैच आउट हो गए। उनका कैच जसप्रीत बुमराह ने लपका। इसके बाद रवींद्र जडेजा की जबरदस्त फील्डिंग की वजह से मोहम्मद मिथुन रन आउट हो गए।

कुलदीप यादव ने बांग्लादेश को 5वां झटका दिया, कुलदीप ने शानदार फॉर्म में चल रहे महमदुल्लाह को बुमराह के हाथों कैच आउट करवाया। भारत के खिलाफ शानदार शतकीय पारी खेलने वाले लिटन दास कुलदीप यादव की गेंद पर धौनी के हाथों स्टंप आउट हुए। लिटन दास ने 117 गेंदों पर 121 रन बनाए। कप्तान मशरफे मुर्तजा को धौनी ने 7 रन पर कुलदीप यादव की गेंद पर स्टंप आउट कर दिया। नजमुल इस्लाम 7 रन बनाकर रन आउट हो गए। सौम्या सरकार ने अपनी टीम के लिए उपयोगी 33 रन की पारी खेली लेकिन वो रन आउट हो गए। रूबेल हुसैन बिना खाता खोले ही जसप्रीत बुमराह की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।

भारत की तरफ से कुलदीप यादव ने तीन, केदार जाधव ने दो जबकि बुमराह और चहल ने एक-एक विकेट लिए। इस मैच में बांग्लादेश के तीन खिलाड़ी रन आउट हुए।

बांग्लादेश ने चली ये चाल
बांग्लादेश ने भारत को फाइनल में चौंकाते हुआ अपने स्पिन गेंदबाज़ मेहदी हसन को ओपनिंग पर उतार दिया। बांग्लादेश ने ये चाल इस वजह से चली ताकि वो शुरुआत में तेज़ी से रन बटोर कर बांग्लादेश को अच्छी शुरुआत दिला सके और हसन ने ऐसा किया भी और इस टूर्नामेंट में ऐसा पहली बार हुआ जब बांग्लादेशी ओपनर्स ने 100 से ज़्यादा रन की साझेदारी की।

भारतीय टीम
रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायुडू, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी, केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह।

बांग्लादेश की टीम
लिटन दास, सौम्या सरकार, मुश्फिकुर रहीम, मोहम्मद मिथुन, इमरूल कायस, महमदुल्लाह, मशरफे मुर्तजा (कप्तान), मेहदी हसन, नजमुल इस्लाम रूबेल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान।

About एच बी संवाददाता

Check Also

pistol_recovered_190218_19_02_2018

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले से 15 पिस्टल-कट्टे और 15 कारतूस हुए बरामद

खरगोन/ग्वालियर । मध्य प्रदेश के खरगोन जिले से हथियारों की बड़ी खेप लेकर भिंड जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *