Thursday , March 21 2019
Home / उत्तराखण्ड / जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल के कई इलाकों में भारी बर्फबारी, उत्तर भारत में बढ़ी ठंड
Heavy_snowfall_in_Munsiyari_1545929474

जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल के कई इलाकों में भारी बर्फबारी, उत्तर भारत में बढ़ी ठंड

जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड  और हिमाचल प्रदेश  के कई इलाकों में भारी बर्फबारी के बाद ठंड बढ़ गई। त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित माता वैष्णो देवी के मार्ग में रविवार को लगातार दूसरे दिन बर्फबारी जारी रही। भवन, भैरो घाटी, सांझी छत, हिमकोटी आदि क्षेत्र में दिन भर बर्फबारी होती रही। दोपहर तक भवन के आसपास तीन से चार इंच तक बर्फ जम चुकी थी। उत्तराखंड के कई इलाकों में बर्फबारी, कोहरा छाने और शीतलहर चलने से तराई में ठिठुरन का असर बढ़ता दिखाई दिया।

12HAL_13CPT5P_1513078545_1513078545 Heavy_snowfall_in_Munsiyari_1545929474 Possibility_of_snowfall_in_four_districts_of_Uttarakhand_1545835576

उत्तराखंड के कई इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। मुनस्यारी, कपकोट में जहां रुकरुक कर हिमपात हुआ वहीं नैनीताल में देर रात सीजन का पहला हिमपात हुआ। चम्पावत, अल्मोड़ा में भी दिन भर छाए बादलों ने ठंड बढ़ा दी है। वहीं तराई में जारी शीतलहर ने ठिठुरन बढ़ा दी है। मुनस्यारी में कई कुंड का पानी जम गया है।

बर्फबारी, कोहरा छाने और शीतलहर चलने से तराई में ठिठुरन का असर बढ़ता दिखाई दिया। लोग अलाव सेंककर और गर्म कपड़े पहनकर सर्दी का सामना करते नजर आए। हालांकि दोपहर में खिली हल्की धूप ने कुछ राहत जरूर दिलायी। लेकिन देर शाम होते-होते एक बार फिर पूरा का पूरा तराई कोहरे और शीतलहरों के आगोश में डूबा दिखाई दिया। रविवार को अधिकतम तापमान 18.3 डिग्री और न्यूनतम तापमान 2.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

snow07 बर्फबारी (Snowfall)

इस बर्फबारी के बीच 15 हजार श्रद्धालु माता के दरबार की ओर उत्साह से बढ़ रहे थे। बर्फबारी के कारण हेलीकॉप्टर और उड़नखटोला सेवा को थोड़ी देर के लिए रोकना पड़ा। इसी दौरान पंजाब के पर्यटन मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी माता के दरबार में हाजिरी लगाई। जम्मू में चर्चित पर्यटन स्थल पटनीटॉप और नाथाटॉप में भी दिन के दौरान बर्फबारी हुई। लगातार हो रही बर्फबारी को लेकर श्राइन बोर्ड प्रशासन के साथ ही स्थानीय प्रशासन से सतर्क हो गया है। आपदा प्रबंधन और श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की टीमें लगातार वैष्णो देवी यात्रा पर निगाह रखे हुए हैं। सर्दी के बीच श्रीनगर और अन्य कस्बों में लोग फिसलन भरी सड़कों के कारण आवाजाही से बच रहे हैं। मौसम विभाग ने रविवार से 10 जनवरी तक मौसम में सुधार का अनुमान जताया है। शहर और कस्बों में सड़कों पर यातायात नहीं दिखाई दे रहा। श्रीनगर शहर का रविवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 1.2 डिग्री सेल्सियस नीचे, पहलगाम का शून्य से 7.9 डिग्री नीचे और गुलमर्ग का शून्य से 9 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

Shimla_Snowfall(1) snow07

उधर, हिमाचल प्रदेश के ऊंचे पर्वतीय इलाकों में फिर से भारी बर्फबारी से ठिठुरन और बढ़ गई है। बर्फबारी से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। कई इलाकों में पारा शून्य डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया है। मौसम विभाग ने बताया कि अगले 24 घंटों मे राज्य के कई हिस्सों में भारी हिमपात हो सकता है। मौसम केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि शनिवार शाम साढ़े पांच बजे से रविवार सुबह साढ़े आठ बजे के बीच कुल्लू जिले के मनाली में नौ सेंटीमीटर बर्फबारी हुई है जबकि आदिवासी लाहौल-स्पीती के प्रशासनिक केंद्र केलांग और किन्नौर के कल्पा में 13-13 सेंटीमीटर हिमपात रिकॉर्ड किया गया है। उन्होंने बताया कि नारकण्डा, कुफ्री और शिमला में हल्की बर्फबारी हुई। शिमला के आसमान में शुक्रवार शाम से बादल छाए हुए हैं।

बर्फबारी से पर्यटकों के चेहरे खिल उठे
पर्यटक स्थल मनाली, डलहौजी, कुफरी और नारकंडा में रविवार सुबह से हो रही भारी हिमपात से जहां यहां आए पर्यटकों के चेहरे खिल उठे वहीं राज्य की कई सड़कें इससे अवरुद्ध हो गई हैं। मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार रात मनाली और कुल्लू एवं उसके आसपास के इलाकों में 10 से 15 सेंटीमीटर तक हिमपात हुआ। 12000 फुट की ऊंचाई वाले जालोरी जोत चोटी पर हिमपात होने से शिमिला के रामपुर और कुल्लू के अनि, निरमंड तक वाहनों का आवागमन बाधित हुआ है।

वैष्णो देवी में एक तीर्थयात्री की मौत
जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में स्थित वैष्णो देवी मंदिर जाने के दौरान 71 वर्षीय एक तीर्थयात्री की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र के रहने वाले भगवान गोपाल भंडारी गुफा मंदिर जाने के दौरान अर्धकुंवारी के निकट अचेत हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

चक्रवात ‘पाबुक’ से अंडमान में ऑरेंज अलर्ट जारी
केंद्र सरकार ने चक्रवाती तूफान की चपेट में आए अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि चक्रवात ‘पाबुक’ द्वीपसमूह की ओर बढ़ रहा है और वर्तमान में यह तूफान अंडमान सागर और उसके आसपास मंडरा रहा है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए ‘ऑरेंज’ चेतावनी जारी की गई है।

About एच बी संवाददाता

Check Also

WhatsApp Image 2019-03-21 at 01.25.05

फाग

आम की बौर,कोयल की कूक, जगह-जगह फूल, भँवरे की गुँजन और बसंती बयार । इन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *