मुख्यमंत्री ने गौतमबुद्धनगर में दीवार गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया, राहत तेज करने का निर्देश ~

मुख्यमंत्री ने गौतमबुद्धनगर में दीवार गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया, राहत तेज करने का निर्देश

मुख्यमंत्री ने गौतमबुद्धनगर में दीवार गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया, राहत तेज करने का निर्देश

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में बीते दिनों से हो रही वर्षा का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। राजधानी लखनऊ के बाद अब गौतमबुद्धनगर में दीवार गिरने से चार लोगों की मौत हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को गौतमबुद्धनगर में चार लोगों की मौत पर गहरा दुख जताने के साथ अधिकारियों को राहत तथा बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र में दूसरे दिन की कार्यवाही में जाने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गौतमबुद्धनगर की घटना पर दुख जताने से साथ वहां के जिलाधिकारी तथा नोएडा के पुलिस कमिश्नर से वार्ता भी की।

मुख्यमंत्री ने गौतमबुद्धनगर में दीवार गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए उनके उपचार की समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके साथ ही उन्होंने वहां के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर तत्काल पहुंचकर युद्ध स्तर पर राहत तथा बचाव कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि गौतमबुद्धनगर के नोएडा के सेक्टर-21 में जलवायु विहार में मंगलवार सुबह नाले की निर्माणाधीन दीवार गिरने से 13 कामगार दीवार के नीचे दब गए। इस हादसे की सूचना पर पहुंची सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस, फायर ब्रिगेड की टीम ने पांच जेसीबी मदद से मलबे को हटाकर दीवार के नीचे दबे कामगार को बाहर निकाला। इस हादसे में गंभीर रूप से चार कामगारों को इलाज के लिए अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया। जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस मृतकों की शिनाख्त का प्रयास कराने में जुटी है। पुलिस का कहना है कि नौ कामगारों को सुरक्षित मलबे से बाहर निकाला गया है। जिनकी हालत स्थिर है। हादसे में घायल दो कामगार को सेक्टर-27 स्थित कैलाश अस्पताल और दो कामगरों को सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.