लखनऊ में भूकंप के बाद गिरी इमारत, पांच की मौत,  30-40 लोगों के दबे होने की आशंका, बचाव कार्य जारी ~

लखनऊ में भूकंप के बाद गिरी इमारत, पांच की मौत,  30-40 लोगों के दबे होने की आशंका, बचाव कार्य जारी

लखनऊ में भूकंप के बाद गिरी इमारत, पांच की मौत,  30-40 लोगों के दबे होने की आशंका, बचाव कार्य जारी

लखनऊ:राजधानी दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में आज दोपहर में तकरीबन 2:30 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए । भूकंप का केंद्र नेपाल था। भूकंप से दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई हिस्से प्रभावित हुए हैं । बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ जिले में हजरतगंज इलाके के वजीर हसन रोड पर भूकंप के बाद एक इमारत गिर गई जिसमें कई लोगों के दबे होने की आशंका बताई जा रही है । मौके पर पुलिस एवं फायर ब्रिगेड मौजूद है एवं राहत एवं बचाव कार्य जारी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इमारत गिरने की दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए।

सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अब्बास हैदर के पिता अमीर हैदर व बेटा मुस्तफा को सुरक्षित निकाल लिया गया है। पत्नी उजमा और मां बेगम अमीर हैदर अभी भी मलबे में दबे हैं। कल सोमवार को अब्बास हैदर के माता-पिता की 50वीं सालगिरह थी। घर मे पार्टी का आयोजन हुआ था।

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने लखनऊ के सभी अस्पतालों को अलर्ट करने के साथ ही ब्लड की व्यवस्था, नाइट शिफ्ट के डॉक्टरों को तत्काल ड्यूटी पर  पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अपार्टमेंट मे फंसे लोगों को सुरक्षित निकालना हमारी प्राथमिकता है। रही बात बिल्डिंग के निर्माण की गुणवत्ता की तो उसे बाद मे देखेंगे। दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी ने घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है। इसके साथ ही जिलाधिकारी और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ साथ एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य पर कराने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ कई अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इमारत गिरने की दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *