Tuesday , December 11 2018
Home / खेल / एशिया कप फाइनल : बांग्लादेश ने रखा भारत के सामने जीत के लिए 223 रन का लक्ष्य
Team_India.jpg_1538145344

एशिया कप फाइनल : बांग्लादेश ने रखा भारत के सामने जीत के लिए 223 रन का लक्ष्य

नई दिल्ली । एशिया कप 2018 का फाइनल मैच भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जा रहा है। इस खिताबी जंग में भारत के कप्तान टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया। फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने ओपनर बल्लेबाज लिटन दास की शतकीय पारी के दम पर 48.3 ओवर में 222 रन पर सिमट गई। अब भारत को सातवीं बार एशिया कप जीतने के लिए 223 रन का लक्ष्य मिला है।

लिटन दास ने खेली 121 रन की पारी
भारत को पहली सफलता का इंतजार 20 ओवर तक करना पड़ा, केदार जाधव ने मेहदी हसन को अंबाति रायुडू के हाथों कैच आउट करवा बांग्लादेश को पहला झटका दिया। भारत को दूसरी सफलता इमरूल कायस के तौर पर मिली। स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उन्हें 2 रन पर LBW आउट कर दिया। कायस ने रिव्यू का भी इस्तेमाल किया लेकिन फैसला भारत के हक में ही रहा।

बेहतरीन फॉर्म में चल रहे बांग्लादेश के मध्यक्रम के बल्लेबाज मुश्फिकुर रहीम का बल्ला फाइनल में नहीं चल पाया। वो सिर्फ 5 रन बनाकर केदार जाधव की गेंद पर कैच आउट हो गए। उनका कैच जसप्रीत बुमराह ने लपका। इसके बाद रवींद्र जडेजा की जबरदस्त फील्डिंग की वजह से मोहम्मद मिथुन रन आउट हो गए।

कुलदीप यादव ने बांग्लादेश को 5वां झटका दिया, कुलदीप ने शानदार फॉर्म में चल रहे महमदुल्लाह को बुमराह के हाथों कैच आउट करवाया। भारत के खिलाफ शानदार शतकीय पारी खेलने वाले लिटन दास कुलदीप यादव की गेंद पर धौनी के हाथों स्टंप आउट हुए। लिटन दास ने 117 गेंदों पर 121 रन बनाए। कप्तान मशरफे मुर्तजा को धौनी ने 7 रन पर कुलदीप यादव की गेंद पर स्टंप आउट कर दिया। नजमुल इस्लाम 7 रन बनाकर रन आउट हो गए। सौम्या सरकार ने अपनी टीम के लिए उपयोगी 33 रन की पारी खेली लेकिन वो रन आउट हो गए। रूबेल हुसैन बिना खाता खोले ही जसप्रीत बुमराह की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।

भारत की तरफ से कुलदीप यादव ने तीन, केदार जाधव ने दो जबकि बुमराह और चहल ने एक-एक विकेट लिए। इस मैच में बांग्लादेश के तीन खिलाड़ी रन आउट हुए।

बांग्लादेश ने चली ये चाल
बांग्लादेश ने भारत को फाइनल में चौंकाते हुआ अपने स्पिन गेंदबाज़ मेहदी हसन को ओपनिंग पर उतार दिया। बांग्लादेश ने ये चाल इस वजह से चली ताकि वो शुरुआत में तेज़ी से रन बटोर कर बांग्लादेश को अच्छी शुरुआत दिला सके और हसन ने ऐसा किया भी और इस टूर्नामेंट में ऐसा पहली बार हुआ जब बांग्लादेशी ओपनर्स ने 100 से ज़्यादा रन की साझेदारी की।

About एच बी संवाददाता

Check Also

kishtwar-road_18733407_12044265

जम्मू स्थित किश्तवाड़ में पहाड़ों का सीना चीर कर बनी दुनिया की सबसे खतरनाक सड़क 

किश्तवाड़। जम्मू स्थित किश्तवाड़ में पहाड़ों का सीना चीर कर बीकन (सैन्य विंग) पर्यटकों के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *