Monday , April 22 2019
Home / प्राइम / अक्षय कुमार की फिल्म केसरी की बॉक्स ऑफीस पर धमाकेदार सुरुआत
kesari

अक्षय कुमार की फिल्म केसरी की बॉक्स ऑफीस पर धमाकेदार सुरुआत

मुंबई। Kesari Box Office Collection होली के दिन रिलीज़ हुई अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘केसरी’ ने बॉक्स ऑफ़िस पर ज़बर्दस्त प्रदर्शन किया है। पहले दिन की कमाई देखकर ऐसा लगता है कि होली पर इस बार सिर्फ़ केसरिया रंग ही फ़िज़ा में उड़ा है। 21 मार्च को ‘केसरी’ देश में 3600 स्क्रींस और ओवरसीज़ में 600 स्क्रींस पर रिलीज़ की गयी। ट्रेड जानकारों के मुताबिक, फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस पर ₹21.06 करोड़ का कलेक्शन पहले दिन किया है, जो 2019 में सबसे बड़ा ओपनिंग कलेक्शन है। फ़िल्म ने इस साल रिलीज़ हुई सभी फ़िल्मों को पीछे छोड़ दिया है। जानकार बताते हैं कि ‘केसरी’ ने गुरुवार को 3 बजे के बाद रफ़्तार पकड़ी, क्योंकि दोपहर तक देशभर में होली के त्योहार का असर रहता है। गोल्ड के बाद केसरी अक्षय कुमार की दूसरी सबसे बड़ी ओपनर है। गोल्ड ने ₹25.25 करोड़ का कलेक्शन किया था। ‘केसरी’ को चार दिनों का ओपनिंग वीकेंड मिला है और उम्मीद की जा रही है कि फ़िल्म ₹100 करोड़ का पड़ाव आसानी से छू लेगी।

2019 की सबसे बड़ी ओपनिंग का रिकॉर्ड

इस साल सबसे बड़ी ओपनिंग का रिकॉर्ड अब तक रणवीर सिंह की ‘गली बॉय’ के नाम था, जिसने पहले दिन ₹19.40 करोड़ का कलेक्शन किया था। केसरी के पहले नंबर पर आने के बाद अब तीसरे स्थान पर अजय देवगन की ‘टोटल धमाल’ आ गयी, जिसे ₹16.50 करोड़ की ओपनिंग मिली थी। चौथे स्थान पर कंगना रनौत की ‘मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ़ झांसी’ है, जिसने ₹8.75 पहले दिन जमा किये थे। वहीं, पांचवें नंबर पर विक्की कौशल की ‘उरी द सर्जीकल स्ट्राइक’ है, जिसने ₹8.20 करोड़ की ओपनिंग ली थी।

इतिहास का सबसे भीषण युद्ध है बैटल ऑफ़ सारागढ़ी

अनुराग सिंह निर्देशित ‘केसरी’ एक वॉर फ़िल्म है, जो इतिहास प्रसिद्ध बैटल ऑफ़ सारागढ़ी पर आधारित है। अक्षय कुमार ने हवलदार ईशर सिंह का रोल निभाया है, जिनके नेतृत्व में महज़ 21 सिख जवानों ने 10 हज़ार की तादाद में आये अफ़ग़ान हमलावरों से मोर्चा लिया था और अपनी चौकी पर क़ब्ज़ा करने से रोका था। ये सारे 21 जवान इस युद्ध में शहीद हुए थे। बैटल ऑफ़ सारागढ़ी को भारतीय इतिहास के सबसे भीषण युद्धों में से एक माना जाता है, जिसमें शौर्य और बलिदान की एक ऐसी दास्तां लिखी गयी थी, जिसका असर शायद ही कभी ख़त्म हो। हालांकि ब्रिटिश हुकूमत के लिये किये इस युद्ध को भारतीय इतिहास में उस तरह से सेलिब्रेट नहीं किया गया, जो सम्मान इसे मिलना चाहिए था।

About एच बी संवाददाता

Check Also

shila dixit

लोकसभा चुनाव-2019 कांग्रेस ने दिल्ली की 6 सीटों पर प्रत्याशी किए घोषित, जानें

नई दिल्ली |  लोकसभा चुनाव-2019 के मद्देनजर कांग्रेस ने दिल्ली की सात में से छह लोकसभा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *