Saturday , April 20 2019
Home / उत्तराखण्ड / 42 लाख बच्चों को खिलाई जाएगी कृमि मुक्ति की दवा
कृमि मुक्ति की दवा

42 लाख बच्चों को खिलाई जाएगी कृमि मुक्ति की दवा

देहरादून। बच्चों में कृमि संक्रमण से जुडे जन स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग उत्तराऽण्ड सरकार द्वारा 08 पफरवरी को राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस का आयोजन किया जा रहा है।
राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा और मानव संसाध्न विकास मंत्रालय, स्कूल शिक्षा मंत्रालय तथा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के समुचित सहयोग से आयोजित एक अऽिल भारतीय जन स्वास्थ्य कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के तहत उत्तराऽण्ड के सभी स्कूल और आंगनबाडी में 01 से 19 साल तक के 42.77 लाऽ बच्चों को एलबेंडाजोल की दवाई ऽिला कर कृमि मुत्तफ किया जायेगा। अनुपस्थिति या बिमारी के कारण जिन बच्चों को 08 पफरवरी, राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस पर कृमि नियंत्राण की दवाई नही ऽिलाई जा सकी उन्हे 14 पफरवरी माप दिवस पर कृमि मुत्तफ किया जायेगा। पिछले चरण, अगस्त 2018 में 31.1 लाऽ बच्चों को यह दवाई ऽिलाई गयी थी।
राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस कार्यक्रम का प्रमुऽ उद््देश्य उत्तराऽण्ड के सभी बच्चों के स्वास्थ एवं पोषण सम्बध्ी स्थिति और संज्ञानात्मक विकास तथा जीवन की गुणवत्ता में सुधर के लिए उन्हे कृमि मुत्तफ करना आवश्यक है। आमतौर पर यह देऽा गया है हि कृमि संक्रमण का बच्चों के स्वास्थ्य एवं उनके समग्र विकास पर बहुत बुरा प्रभाव पड सकता है। भारत में कृमि संक्रमण एवं जनस्वास्थ समस्या के रूप में उभर रहा है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार भारत में 5 से 14 साल तक की उम्र के 22 करोड़ से भी अध्कि बच्चों को कृमि संक्रमण का ऽतरा हैै।
राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस की तैयारी राज्य सरकार ने भारत सरकार के दिशानिर्देश के अनुसार बच्चों को दवा ऽिलाने के लिए 24,056 शिक्षकों और 19,807 आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य निर्धरित किया गया है। राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस के आगामी चक्र में लगभग 24,000 स्कूलों तथा 19,446 आंगनबाडी केन्द्रों के माध्यम से दवा ऽिलाई जानी है। इसी क्रम में 9,910 आषा कार्यकर्ताओं की भी महत्वापूर्ण भूमिका है।राष्ट्रीय कृमि मुत्तिफ दिवस के आने वाले चरण में उत्तराऽण्ड के सभी निजी स्कूल और स्कूल न जाने वाले बच्चों को भी शामिल किया जायेगा ।

About एच बी संवाददाता

Check Also

BAAL BHURASS KA MANCHAN KARTAI HUA

बुढि़या का सपना नाटक से अंधाविश्वास पर किया कटाक्ष

श्रीनगर| हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि के लोक कला संस्कृति निष्पादन केंद्र की ओर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *